Menu Close

कमबख्त सैलेरी

उम्र की राह में जज्बात बदल जाते है।
वक़्त की आंधी में हालात बदल जाते है
सोचता हूं काम कर-कर के रिकॉर्ड तोड़ दूं।
कमबख्त सैलेरी देख के ख्यालात बदल जाते हैं

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *