Double Meaning Jokes

कल दोपहर रॉकेट लेकर

छत पे चंद्रयान के बारे में सोच रहा था!
पड़ोसन आयी औऱ बोली: क्या सोच रहे हो?
मैने कहा: मैं भी कब से चाँद पे चढ़ने की सोच रहा हूँ!
शर्मा कर बोली: कल दोपहर रॉकेट लेकर आ जाईयेगा!

0 0 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
Back to top button
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x