कितना भी चाहो ना भुला पाओगे

कितना भी चाहो, ना भुला पाओगे,

हमसे जितना दूर जाओ नज़दीक पाओगे.

हमे मिटा सकते हो तो मिटा दो यादें मेरी,

मगर, क्या सपनो से जुदा कर पाओगे हमें।