किसी की मुलाक़ात

किसी की मुलाक़ात अधूरी सी लगी,
पास होक भी दूरी सी लगी,
होठों पे हंसी आँखों में मज़बूरी लगी,
ज़िन्दगी में पहली बार किसी की दोस्ती ज़रूरी सी लगी.