चाहत के यह कैसे अफसाने हुए

चाहत के यह कैसे अफसाने हुए,

खुद नज़रों में अपने बेगाने हुए,

किसी भी रिश्ते का ख्याल नहीं मुझे,

इश्क़ में तेरे इस कदर दीवाने हुए.

जन्मदिन मुबारक