टमाटर खरीदने की हिम्मत

आजकल तो आलम ऐसा हो गया है कि सब्जीवाले भी गली में आकर आवाज लगाते हैं…
.
.
.
है कोई माई का लाल,जो खरीदे टमाटर लाल!