दो बार कुत्ता नहीं बन सकते

एक कुत्ता  मंदिर के पास चबूतरे पर बैठा रहता था,
मंदिर में लोगों को पूजा करते देख कुत्ता भी भगवान की भक्ति करने लगा।
भगवान कुत्ते की भक्ति से प्रसन्न हुए और बोले – “मांगो तुम्हें क्या चाहिए?”
कुत्ता – “प्रभु मुझे अगले जन्म में कुत्ता ही बनाना।”
भगवान – “दो बार कुत्ता नहीं  , कुछ और मांगो।”
कुत्ता – “तो प्रभु मुझे अगले जन्म में Private Company ka Employee बना देना।”
भगवान – “चालाकी नहीं…!!
कहा ना कि दो बार कुत्ता नहीं बना सकते…!!”