ग़ालिब को कोरोना हो गया

कुछ लम्हों की लापरवाही में
जिंदगी भर का रोना हो गया।
सोचते रहे वो प्यार का बुखार,
और ग़ालिब को कोरोना हो गया।