Best 2 Liner Hindi Shayari

अगर हो तेरी इजाजत तो मांग ले खुदा से तुमको,
सुना है दिल से मांगी गई दुआ कभी बेकार नही जाती!

तुझसे पहले भी कई जख्म थे सीने में मगर,
अब के वह दर्द है दिल में कि रगें टूटती हैं।


ये दिल बुरा ही सही पर सरे बाज़ार तो ना कहो,
आखिर तुमने भी इसमें कुछ दिन गुजारे है।


पांवों के लड़खड़ाने पर तो सबकी है नज़र,
सर पर कितना बोझ है कोई देखता नहीं।


बस यूं ही थम के रहे गया कारवां दिल का,
हम कहे नहीं पाए उन ने सुनना नहीं चाहा!


चाह कर भी पूछ नहीं सकते हाल उनका,
डर है कहीं कह ना दे के ये हक तुम्हे किसने दिया।


तुमने ही बदले दिए सिलसिले अपनी वफाओं के,
वरना हम तो आज भी तुम से अज़ीज़ कोई नही।


तेरे वजूद से हैं मेरी मुक़म्मल कहानी,
मैं खोखली सीप और तू मोती रूहानी।


मुझ से खुशनसीब है मेरे लिखे हुए ये लफ्ज,
जिनको कुछ देर तक पढेगी निगाह तेरी।


दो शब्द तसल्ली के नहीं मिलते इस शहर में,
लोग दिल में भी दिमाग लिए फिरते हैं।


जो आँखों में हुई बातें वो सबसे हसीन थीं,
लफ़्ज़ों में बयान करके उन्हें इलज़ाम ना दो।


खामोश आँखों में और कितनी वफ़ा रखूं,
तुम्ही को चाहूँ कि तुम्हीं से फासला रखूं।


नुमायश करने से चाहत बड़ नहीं जाती,
मोहब्बत वो भी करते हैं जो इजहार नही करते।


सुना है दिल से याद करो तो खुदा भी आ जाता है,
हमने तो तुम्हें सांसो मैं बसाया फिर भी अकेले है!


एक रास्ता ये भी है मंजिलों को पाने का,
सीख लो तुम भी हुनर हाँ में हाँ मिलाने का।


जब तक था दम में दम न दबे आसमाँ से हम,
जब दम निकल गया तो ज़मीं ने दबा लिया।

अगर बिकने पे आ जाओ तो घट जाते हैं दाम अक्सर,
न बिकने का इरादा हो तो क़ीमत और बढ़ती है।


हुआ सवेरा तो हम उनके नाम तक भूल गए
जो बुझ गए रात में चरागों की लौ बढ़ाते हुए।


दिल से दिल मिले या न मिले हाथ मिलाओ,
हमको ये सलीका भी बड़ी देर से आया।