भाड़ में जाओ सब

कभी-कभी, छोटे-छोटे से वाक्य,
मन को कितनी शांति देते हैं।
.
.
.
.
जैसे…
.
.
.
.
.
भाड़ में जाओ सब!!!!!!! 😉 😉