यह कडुआ सच है

दूसरो की गलतियों से सीखो अपने ही ऊपर प्रयोग करके सीखने को तुम्हारी आयु कम पड़ेगी.


किसी भी व्यक्ति को बहुत ईमानदार (सीधा साधा ) नहीं होना चाहिए —सीधे वृक्ष और
व्यक्ति पहले काटे जाते हैं.


व्यक्ति अपने आचरण से महान होता है जन्म से नहीं.


हर मित्रता के पीछे कोई स्वार्थ जरूर होताहै –यह कडुआ सच है.