रोज दिन बदलते हैं

रोज तारीख बदलती है,
रोज दिन बदलते हैं,
रोज अपनी उमर भी बदलती है,
रोज समय भी बदलता है.
हमारे नजरिये भी वक्त के साथ बदलते हैं,
बस एक ही चीज है जो नहीं बदलती,
और वो हैं “हम खुद”,
और बस ईसी वजह से हमें लगता है
कि अब “जमाना” बदल गया है।